चाक चौबंद सुरक्षा करने में जुटी मोदी सरकार

  • 2016-10-17 05:45:52.0
  • राकेश कुमार आर्य

चाक चौबंद सुरक्षा करने में जुटी मोदी सरकार

इस समय देश सचमुच बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है। नेतृत्व की थोड़ी से चूक से कुछ भी होना संभव है, शत्रु पर हम इस समय निश्चित रूप से हावी हैं, पर कल क्या होगा कुछ नही कहा जा सकता? ऐसी परिस्थितियों में मोदी सरकार सुरक्षा को लेकर बहुत गंभीर दिखाई दे रही है, जो कि एक अच्छी बात है। इस दिशा में मोदी सरकार ने जो महत्वपूर्ण निर्णय लिये हैं उनमें इंडियन एयरफोर्स के जगुआर फाइटर जैट्स का इंजिन बदलकर उसकी क्षमता में भारी बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया है। मोदी सरकार 36 डसाल्ट राफेल फाइटर्स जैट्स डील कर के भारत में अत्याधुनिक 4.5 जेन लड़ाकू विमान ला रही है। इससे भारत की सुरक्षा को मजबूती मिलेगी और शत्रु को भारत की ओर देखने में भी दस बार सोचना पड़ेगा।


मोदी सरकार 40 सुपर सुखोई रूस से ला रही है, इसके लिए रूस से भारत सरकार की वार्ता बहुत ही सकारात्मक ढंग से आगे बढ़ती बताई जा रही है, इतना ही नही रूस भी भारत को अपनी परंपरागत मित्रता को निभाते हुए हर संकट में साथ देने का वचन दे रहा है। मोदी सरकार 300 अत्याधुनिक तोप अमेरिका से ला रही है और दूसरी 800 तोपें भारत में कल्याणी ग्रुप और खुद की तकनीकी से बनवा रही है। यह 'मेक इन इंडिया' का कमाल है।

मोदी सरकार ने 2 वर्ष में ही एलसीए तेजस को वायुसेना में शामिल करवा दिया और उससे अगली पीढ़ी का 'तेजस' भी बना लिया है, जिससे भारत की वायु सेना और भी मजबूत हो गयी है। आपको याद होगा कि यूपीए सरकार के समय हमारी सुरक्षा व्यवस्था में चूक के कारण हमारे सैनिक ठिकानों पर अक्सर आग लगने और उनमें बहुत सी युद्घ सामग्री समाप्त हो जाने की घटनाएं अक्सर आती थीं, लेकिन अब उन सब पर पूर्ण विराम लग गया है। इसका अर्थ है कि उस ओर भी सरकार की ओर से ध्यान दिया गया है।.
पिछले 2-3 वर्ष में मोदी सरकार ने 14 लाख की विशाल सेना के लिये बुलेटप्रूफ जैकेट बनवाने का प्रशंसनीय निर्णय भी लिया है, सिसे हमारे सैनिकों की जान की सुरक्षा तो संभव होगी ही साथ ही उनका मनोबल बढ़ाने में भी सहायता मिलेगी।

अमेरिका, फ्रांस, स्वीडन, और स्विस फाइटर जैट कंपनियां भारत के दरवाजे पर इस समय लाइन लगाकर खड़ी हैं। रूस के पूर्वी तट पर ब्लादिवोत्सक के पास एक शिपयार्ड में इस वक्त भारतीय नौसेना के लिए तीन और अत्याधुनिक जहाजों के बनाने का निर्माण कार्य चल रहा है, इसके अलावा रूस के साथ और भी ऐसे कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत चल रही है जो हमारी सुरक्षा के लिए बहुत ही आवश्यक हैं। भारत और इजराइल की दोस्ती भी इस समय विश्व में चर्चा का विषय है। इजराइल भारत के साथ दिल से खड़ा है, जिससे चीन और पाकिस्तान दोनों ही सकते में हैं। यदि भारत की स्थिति इस समय यूपीए के दिनों वाली होती तो सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अब तक चीन और पाकिस्तान भारत पर कहर बरपा चुके होते, लेकिन अब उन्हें पता है कि भारत के पहरेदार इस समय कौन हैं? इसलिए खबरदार और होशियार होकर शत्रु अपनी चाल पर चिंतन कर रहा है।

जब शत्रु आपके वर्चस्व और पराक्रम के सामने पानी भरने की स्थिति में आ जाए तब समझना चाहिए कि देश का नेतृत्व सुरक्षित हाथों में है, परंतु नेतृत्व को कभी भी यह भ्रम नही पालना चाहिए कि उसके रहते हुए देश पूरी तरह सुरक्षित है। उसे अपनी सीमा पर खड़े सैनिक की भांति सदैव चौकन्ना और सावधान रहना चाहिए, क्योंकि शत्रु जिस समय आपके सामने पानी भरने की स्थिति में हो, तभी समझना चाहिए कि वह तुम्हें नीचा दिखाने के लिए कोई भी षडय़ंत्र रच सकता है, और किसी भी सीमा तक जा सकता है।

राकेश कुमार आर्य ( 1582 )

उगता भारत Contributors help bring you the latest news around you.