तिलक का महत्व

हिन्दू परम्परा में मस्तक पर तिलक लगाना शुभ माना जाता है इसे सात्विकता का प्रतीक माना जाता है विजयश्री प्राप्त करने के उद्देश्य से रोली, हल्दी, चन्दन या फिर कुमकुम तिलक या कार्य की महत्ता को ध्यान में रखकर, इसी प्रकार शुभकामनाओं के रुप में हमारे तीर्थस्थानों पर, विभिन्न पर्वो-त्यौहारों, विशेष अतिथि आगमन पर आवाजाही […]

Continue Reading

भूख से तड़प-तड़प कर मरा पत्रकार, चंदा करके हुआ अंतिम संस्‍कार

राम किशोर पंवार, वैतूल से जहां एक ओर भाजपा के अच्छे दिन आने वाले है वहीं दूसरी ओर भाजपा शासित मध्यप्रदेश के आदिवासी बाहुल्य बैतूल जिला मुख्यालय पर एक पत्रकार नौकरी से निकाले जाने के बाद भूख की वजह से काल के गाल में समा गया। बैतूल में एक पूर्व विधायक और उद्योगपति द्वारा शुरू […]

Continue Reading

न जाने क्या सोच के रोता रहा कातिल मेरा तन्हा

अमलेन्दु उपाध्याय तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी की आत्मा बदल गई है, या उनकी आत्मा उन्हें कचोट रही है या कुछ और मसला है? सरकार बनने के एक महीने से कम समय में ही मोदी का वह रूप दिखाई देने लगा जिसकी कल्पना नहीं थी। कम से कम सोशल मीडिया पर गाली-गलौज कर […]

Continue Reading

साध्वी प्रज्ञा होने के सात अपराध

सुरेश चिपलुनकरमालेगाँव बम ब्लास्ट की प्रमुख आरोपी के रूप में महाराष्ट्र सरकार द्वारा “मकोका” कानून के तहत जेल में निरुद्ध, साध्वी प्रज्ञा को देवास (मप्र) की एक कोर्ट में पेशी के लिये कल मुम्बई पुलिस लेकर आई।साध्वी के चेहरे पर असह्य पीड़ा झलक रही थी, उन्हें रीढ़ की हड्डी में तकलीफ़ की वजह से बिस्तर […]

Continue Reading

इराक नरसंहार इंसानियत को शर्मसार करता है

संजय तिवारी इराक के प्रधानमंत्री नूर अल मलीकी। सद्दाम शासन के खात्मे के बाद जब उन्हें दो हजार छह में इराक का प्रधानमंत्री बनाया गया था, तब भी वे इराक की पसंद कम, अमेरिका की पसंद ज्यादा थे। इसका कारण शायद यह रहा होगा कि वे व्यक्तिगत रूप से एक कमजोर राजनीतिज्ञ थे। सद्दाम हुसैन […]

Continue Reading

आचरण शुद्वि ही ज्ञान की सार्थकता है

आचार्य महाश्रमणतेरापंथ के 11वें आचार्य श्री महाश्रमण ने कहा कि जीवन विकास में ज्ञान की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ज्ञान के द्वारा पुण्यपाप को समझकर कल्याणकारी श्रेष्ठ कार्य ही मनुष्य के लिए अनुकरणीय है। हमें दुलर्भ मानव शरीर मिला है इसका सदुपयोग करें संसार रूपी भवसागर से पार उतरने के लिए हमारा शरीर नाव है।

Continue Reading

युवाओं में जोश भरता हल्‍दीघाटी का युद्ध

इतिहास में ऐसे कई मोड़ आते हैं जो विश्व के इतिहास में, दुनिया की यादों में और वीरता की कहानियों में अमिट छाप छोड़ जाते हैं। हल्दी घाटी का युद्ध आजादी की सदाकांक्षा का परिणाम था जिसे वीरता और बलिदान का प्रतीक माना जाता है।

Continue Reading

घुसपैठियों का सत्कार

घुसपैठियों का सत्कार और श्री राम को दुत्कार। नीचता के किस रसातल मे पहुंच गयी है हमारी राजनीति, ममता छाती ठोंक कर कह रही है की अगर किसी ने बांग्लादेश के घुसपैठिओ को हाथ भी लगाया तो दिल्ली हिला कर रख दूँगी|

Continue Reading

इस्तीफा क्यों नहीं दे रहे चमचे राज्यपाल?

मित्रों,इन दिनों केंद्र की मोदी सरकार जब पुराने राज्यपालों को हटाने जा रही है तो सारे छद्मधर्मनिरपेक्षतावादी दल बेजा शोर मचाने में लगे हैं। जब संप्रग सरकार ने वर्ष 2004 में राजग काल के राज्यपालों को हटाया था तब तो यही लोग तालियाँ पीट रहे थे फिर आज विरोध क्यों?

Continue Reading

मोदी की तूती

पुण्‍य प्रसून वाजपेयी सरकार के गलियारे में प्रधानमंत्री मोदी की तूती पहली बार इंदिरा गांधी के दौर से ही ज्यादा डर के साथ गूंज रही है। हर मंत्री के निजी स्टाफ से लेकर फाइल उठाने वाले तक की नियुक्ति पर अगर पीएमओ की नजर है या फिर हर नियुक्ती से पहले प्रधानमंत्री का कलीरियेंस चाहिये […]

Continue Reading