डीयू और यूजीसी विवाद

दिल्ली विश्वविद्यालय और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के बीच फोर ईयर अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम (एफवाईयूपी) को लेकर चले विवाद में सबसे ज्यादा नुकसान अगर किसी को हुआ तो वे हैं लाखों स्टूडेंट। लेकिन राहत की बात यह है कि फिलहाल यह मुद्दा फौरी तौर पर सुलझ चुका है। एक बात तो साफ है कि यूजीसी […]

Continue Reading

जश्न के मूड में संघ के प्रचारको का नायाब अभियान

पुण्‍य प्रसून वाजपेयी पहली बार संघ के प्रचारक जश्न के मूड में हैं। चूंकि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सफर संघ के प्रचारक से ही शुरु हुआ तो पहली बार प्रचारकों में इस सच को लेकर उत्साह है कि प्रचारक अपने बूते ना सिर्फ संघको विस्तार दे सकता है बल्कि प्रचारक देश में राजनीतिक […]

Continue Reading

विद्यार्थियों का भविष्य बिगड़ने न पाये

राजीव गुप्‍ता विश्व प्रतिष्ठित दिल्ली विश्वविद्यालय में इन दिनों कोहराम मचा हुआ है. कहीं पर शिक्षक हडताल कर रहें हैं तो कही पर विद्यार्थी विजय जुलूस निकाल रहें हैं. इसी बीच दिल्ली विश्वविद्यालय के उपकुलपति के इस्तीफा देने की खबर भी आई परंतु उस खबर की पुष्टि नही हो पाई. दिल्ली विश्वविद्यालय में मचे इस […]

Continue Reading

भाजपा की जनाधार वाली दलित महिला नेत्री कांग्रेस में शामिल

देहरादून से चन्द्रलशेखर जोशी की विशेष रिपोर्ट गर्दन की चोट के इलाज के लिये नयी दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा को धोबीपाट मारा और उसका एक महत्विपूर्ण स्तीम्भड ढहा दिया, एम्सउ में भर्ती ‘हरीश रावत के फार्मुला के सामने भाजपा लाचार साबित हुई, हरीश रावत ने अस्वस्थभता के […]

Continue Reading

सिर्फ बंदूक के दम पर नही चलेगा काबुल

अफगानिस्तान से अंतरराष्ट्रीय सेना हट रही है और भारत की भूमिका बढ़ रही है. आगे का काम अफगान सेना को करना है लेकिन जानकारों का मानना है कि काबुल और पूरे देश की सुरक्षा और विकास सिर्फ सेना के बल पर किया जाना संभव नहीं. पश्चिमी एशिया के विशेषज्ञ कमर आगा का मानना है कि […]

Continue Reading

बाबू जी धीरे चलना ताज एक्‍सप्रेस वे पर संभलना

आजकल नए बने ताज एक्सप्रेस वे पर रोजाना गाड़ियों के टायर फटने के मामले सामने आ रहे हैं जिनमें रोजाना कई लोगों की जानें जा रही हैं. एक दिन बैठे बैठे मन में प्रश्न उठा कि आखिर देश की सबसे आधुनिक सड़क पर ही सबसे ज्यादा हादसे क्यूँ हो रहे हैं? और हादसों का तरीका […]

Continue Reading

आज भी इस साक्षात्‍कार की है अहमियत

जानेमाने पत्रकार डॉ. सैफुद्दीन जिलानी के साथ 30 जनवरी 1971 को श्री गुरूजी का कोलकाता में हुआ वार्तालाप राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का लक्ष्य सम्पूर्ण समाज को संगठित कर अपने हिन्दू जीवन दर्शन के प्रकाश में समाज की सर्वांगीण उन्नति करना यह है। रा.स्व.संघ का कार्य किसी भी मजहब विशेष के खिलाफ नहीं है। परन्तु किसी […]

Continue Reading

अमेरिकी संसद में गूंजा गायत्री मंत्र…

आपने मंदिरों और घरों में होते हवन यज्ञ आदि में गायत्री मंत्र की गूंजसुनी होगी लेकिन जब आपको ये पता लगे कि किसी संसद में गायत्री मंत्रबोला गया तो आप शायद यहीं कहेंगे कि भारतीय संसद मेंही ऐसा हो सकता है लेकिन आपके चेहरे का रिएक्शन क्या होगा जबआपको यह पता चले कि गायत्री मंत्र […]

Continue Reading

किसानों के आत्‍महत्‍या का समाधान क्‍या है

बाबा रामदेव मित्रो इससे बड़ी विडम्बना क्या होगी की पूरे देश का पेट भरने वाला किसान खुद भूख से मरता है आत्मह्त्या करता है ! उसके घर की छत टपकती है फिर भी वो बारिश का इंतजार करता है ! हर वर्ष हमारे देश मे 70 हजार किसान आत्महत्या कर रहे है लेकिन हमारे कृषि […]

Continue Reading

अपने कर्मों से अर्श से आये फर्श पर

आदमी अपने कर्मों के कारण कितनी जल्दी अर्श से फ़र्श पर आता है, इसका ताज़ातरीन उदाहरण हैं आप के नेता अरविन्द केजरीवाल। जो आदमी कुछ ही दिन पहले दिल्ली की जनता का हीरो था, आज ज़ीरो है। उसको शरण देने के लिये दिल्ली में कोई तैयार नहीं हो रहा है। समाचार है कि दिल्ली में […]

Continue Reading