अभी तो ये झांकी है, असली गर्मी बाकी है

  • 2016-04-16 07:30:47.0
  • उगता भारत ब्यूरो

गर्मी

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में गर्मी का असर शुरू हो गया है.
स्थानीय पत्रकार शुरैह नियाजी के मुताबिक अप्रैल का महीना अभी आधा ही बीता है और भोपाल का तापमान 40 के पार हो चुका है तो खजुराहो और खरगोन में पारा 42 डिग्री पहुँच चुका है.
मौसम विभाग के मुताबिक़ अप्रैल में किसी भी तरह की राहत की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए.
वहीं सरकार ने आदेश दिया है कि कोई भी स्कूल एक बजे के बाद जारी नहीं रह सकता.
यह आदेश प्रदेश में बढ़ रही गर्मी की वजह से दिया गया है. राज्य के दूसरे स्थानों पर भी तापमान लगातार बढ़ रहा है.
छत्तीसगढ़ स्थित वरिष्ठ पत्रकार आलोक प्रकाश पुतुल के मुताबिक राज्य में मौसम का मिजाज मार्च से ही गड़बड़ाने लगा था. मार्च के दूसरे सप्ताह में ही बिलासपुर शहर में लगभग 40 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया.

पारा में उतार चढ़ाव लगातार जारी है लेकिन रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग जैसे शहरों के बुजुर्ग यह दावा करते नहीं थक रहे कि ऐसी गरमी इससे पहले उन्होंने नहीं देखी. गुरुवार को भिलाई का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस जा पहुंचा.
शुक्रवार को भी कई शहरों में तापमान का पारा 44 के आसपास चढ़ता-उतरता रहा. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि दो हवाओं के बीच टकराव होने से उत्तर-पश्चिम हवा का असर छत्तीसगढ़ में ज्यादा नज़र आ रहा है और यह स्थिति अभी बरकरार रहेगी.
स्थानीय पत्रकार नीरज सिन्हा के मुताबिक झारखंड में जमशेदपुर सबसे गर्म शहर बना हुआ है. लौहनगरी जमशेदपुर में भीषण गर्मी पड़ रही है. गुरुवार को यहां 42.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.
जमशेदपुर के अलावा सूबे के डाल्टनगंज, बोकारो, गिरिडीह, रांची, चाइबासा, कोयला नगरी धनबाद में भी गर्म हवाओं के थपेड़े लोगों को झुलसा रहे हैं.
पलामू में लू चलने से जनजीवन प्रभावित हुआ है. राज्य के अधिकतर इलाक़ों में जल संकट बढ़ता जा रहा है.

उगता भारत ब्यूरो ( 2467 )

उगता भारत Contributors help bring you the latest news around you.