अभावों से जूझती जिंदगी बोल उठी - गायों से पहले हमको बचालो

  • 2016-02-21 05:30:52.0
  • उगता भारत ब्यूरो

बारां। (चंद्रसिंह किराड़) उगता भारत ट्रस्ट की ओर से आयोजित गौ-कथा के समय हमारी टीम ने राजस्थान के इस क्षेत्र के ग्रामीण आंचल का दौरा किया। जब हम गौ-कथा स्थल बाबा रामदेव मंदिर के पास के एक छोटे से बनजारा समुदाय के गांव में पहुंचे तो उनकी दयनीय दशा को देखकर अत्यंत पीड़ा हुई। उनके मुखिया ने हमसे दो टूक शब्दों में कह दिया कि गाय को बचाने से पहले हमें बचा लो। उनका कहना था कि यहां पर सांसद या विधायक कभी नही आते, वह केवल वोट मांगने के लिए आते हैं। प्रशासनिक अधिकारियों की स्थिति भी यही है।
interview_lete_patr_ke_sahsampadak

क्षेत्र में पेयजल के लिए लगाये नलकों में भारी घोटाला हुआ है। पानी लगभग 600 फुट नीचे मिलता है लेकिन अधिकांश नलके 300 फुट गहराई पर छोड़ दिये गये हैं। जिससे वे सफेद हाथी बनकर खड़े हुए हैं। चित्र में ग्रामीण बच्चों के साथ नलके का अवलोकन करते ‘उगता भारत ट्रस्ट’ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राकेश आर्य (बागपत) ने जब पूछा कि इसमें पानी कब से नही है, तो पता चला कि पानी आज तक आया ही नही है।
rajasthanलोगों ने ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार आर्य, उपाध्यक्ष श्रीनिवास आर्य, सांईंदास जी महाराज, पंडित अश्विनी शर्मा एवं प्रदेश अध्यक्ष चंद्रसिंह किराड़ को बताया कि उनके बच्चों के लिए स्वास्थ्य एवं शिक्षा की कोई व्यवस्था नही है, रहने के लिए आवासों की व्यवस्था नही है।  लोगों की दयनीय दशा को देखकर लगा कि अभी तक इस दिशा में कोई ठोस कार्य सरकारों की ओर से नही किया गया है। शासन-प्रशासन पता नही कब इन दीन-हीन लोगों के प्रति अपने कत्र्तव्यबोध को समझेगा। हमें नही लगता कि इन लोगों ने आजादी के कोई मायने समझे हैं।
abhavo_se_joojhti_jindagi

उगता भारत ब्यूरो ( 2473 )

उगता भारत Contributors help bring you the latest news around you.